भारत-फ्रांस संयुक्‍त अभ्‍यास ‘शक्ति-2019’

भारत और फ्रांस के बीच 'अभ्‍यास शक्ति' की श्रृंखला की शुरुआत वर्ष 2011 में हुई थी। यह एक द्विवाषिक अभ्‍यास है और इसका संचालन बारी-बारी से भारत एवं फ्रांस में किया जाता है। 'अभ्‍यास शक्ति-2019' के तहत फ्रांसीसी सेना के जवान भारतीय सेना के साथ प्रशिक्षण के लिए 26 अक्टूबर 2019 को भारत पहुंचे। द्विपक्षीय प्रशिक्षण अभ्‍यास का संचालन महाजन फील्‍ड फायरिंग रेंज, राजस्‍थान स्थित विदेशी प्रशिक्षण केन्‍द्र में किया जाएगा। सप्त शक्ति कमान की सिख रेजिमेंट की एक टुकड़ी इस अभ्‍यास में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्‍व करेगी। फ्रांसीसी सेना के प्रतिनिधिमंडल का प्रतिनिधित्‍व 6वीं बख्तरबंद ब्रिगेड की 21वीं समुद्री इन्फैंट्री रेजिमेंट के जवानों द्वारा किया जाएगा। द्विपक्षीय अभ्‍यास का संचालन 31 अक्‍टूबर, 2019 से लेकर 13 नवंबर, 2019 तक किया जाएगा।



संयुक्‍त अभ्‍यास के दौरान संयुक्त राष्ट्र अधिदेश के तहत अर्ध-रेगिस्तानी इलाके की पृष्ठभूमि में आतंकवाद का मुकाबला करने से जुड़े परिचालनों पर फोकस किया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान मुख्‍यत: बेहतरीन शारीरिक फिटनेस, सामरिक स्तर पर ड्रिल को साझा करने और एक-दूसरे से सर्वोत्तम प्रथाओं को सीखने पर फोकस किया जाएगा। इस अभ्‍यास का उद्देश्‍य दोनों सेनाओं के बीच आपसी समझ, सहयोग और अंतर-संचालन को बढ़ाना है। इस अभ्‍यास का समापन 36 घंटे चलने वाले प्रमाणीकरण अभ्‍यास के रूप में होगा जिसमें किसी गांव-ठिकाने में छिपे आतंकवादियों का निष्प्रभावीकरण शामिल होगा।



मेट्रो युग
हिंदी
https://metroyug.page
मेल: gnfocus@gmail.com  कॉल: 8826634380


Popular posts
राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान दादरी गौतम बुध नगर में सत्र 2019 -20 के प्रवेश प्रारंभ।
Image
सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ मिथिला आंदोलन में पिछड़ो, दलित और मुस्लिमों की सहभागिता पर विमर्श
Image
उत्तर प्रदेश सरकार गुरु गोविंद सिंह राष्ट्रीय एकता पुरस्कार करेगी प्रदान, ₹100000 का नगद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र दिए जाने की व्यवस्था
Image
कोरोना योद्धाओं से दुर्व्यवहार करने वालों को हरिद्वार पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल
Image
शीत लहरी को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में कक्षा नर्सरी से कक्षा 8 तक के आगामी दो दिनों तक स्कूल कॉलेज रहेंगे बंद
Image