उल्लूओं को पकड़ना, पालना, उनका शिकार करना, खरीद फरोख्त करना तथा उसके अंगों से बनी दवाओं का व्यापार करना दण्डनीय अपराध हैं

उत्तराखंड: इस बार अंधविश्वास को छोड़कर दिवाली मनायें।


दिपावली के अवसर पर तंत्र-मंत्र तथा काला जादू जैसे अंधविश्वास के लिए अंधविश्वासियों द्वारा हजारों उल्लूओं की बलि दी जाती हैं। कुछ उल्लूओं का शिकार उनके अंगों के लिए किया जाता है।
याद रखें, उल्लूओं को पकड़ना, पालना, उनका शिकार करना, खरीद फरोख्त करना तथा उसके अंगों से बनी दवाओं का व्यापार करना दण्डनीय अपराध हैं जिसमें 07 वर्ष तक के कारावास तक का प्रावधान है।
WWF WWF-India


मेट्रो युग
हिंदी मासिक पत्रिका
https://metroyug.page
मेल: gnfocus@gmail.com  कॉल: 8826634380


Popular posts