उल्लूओं को पकड़ना, पालना, उनका शिकार करना, खरीद फरोख्त करना तथा उसके अंगों से बनी दवाओं का व्यापार करना दण्डनीय अपराध हैं

उत्तराखंड: इस बार अंधविश्वास को छोड़कर दिवाली मनायें।


दिपावली के अवसर पर तंत्र-मंत्र तथा काला जादू जैसे अंधविश्वास के लिए अंधविश्वासियों द्वारा हजारों उल्लूओं की बलि दी जाती हैं। कुछ उल्लूओं का शिकार उनके अंगों के लिए किया जाता है।
याद रखें, उल्लूओं को पकड़ना, पालना, उनका शिकार करना, खरीद फरोख्त करना तथा उसके अंगों से बनी दवाओं का व्यापार करना दण्डनीय अपराध हैं जिसमें 07 वर्ष तक के कारावास तक का प्रावधान है।
WWF WWF-India


मेट्रो युग
हिंदी मासिक पत्रिका
https://metroyug.page
मेल: gnfocus@gmail.com  कॉल: 8826634380


Popular posts
राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान दादरी गौतम बुध नगर में सत्र 2019 -20 के प्रवेश प्रारंभ।
Image
सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ मिथिला आंदोलन में पिछड़ो, दलित और मुस्लिमों की सहभागिता पर विमर्श
Image
उत्तर प्रदेश सरकार गुरु गोविंद सिंह राष्ट्रीय एकता पुरस्कार करेगी प्रदान, ₹100000 का नगद पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र दिए जाने की व्यवस्था
Image
कोरोना योद्धाओं से दुर्व्यवहार करने वालों को हरिद्वार पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल
Image
शीत लहरी को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में कक्षा नर्सरी से कक्षा 8 तक के आगामी दो दिनों तक स्कूल कॉलेज रहेंगे बंद
Image